Category Archives: Ajab-Gajab Jharkhand

मौसम का राजा “रांची”

एक तरफ जहां इन दिनों देश के दूसरे शहर चिलचिलाती गर्मी के कहर से जूझ रहे होंगे….झारखंड की राजधानी रांची के मौसम का कुछ यूं मिजाज़ दिख रहा है……तभी तो कहते हैं …मौसम का राजा “रांची” Advertisements

Read more

“जनाना” नहीं “मर्दाना” यात्री…पिंक ऑटो में

रांची शहर में पिंक ऑटो का कांसेप्ट लगभग बदलता दिखा….. ऑटो चालकों की मजबूरी तो देखिये…..जानना (लेडीज) यात्री के बजाय अब वो मर्दाना(जेंट्स) को भी तवज़्ज़ो देने लगी हैं…. ज़ाहिर सी बात है कि महिला यात्रियों की कमी होने की ही वजह से ऑटो चालकों को ये कदम उठाना पड़ता होगा…पापी पेट सवाल है भाई…. पर इस बात से भी

Read more

“राजमहल” सा पुलिस थाना

जी हां आपने सही सुना…ये इमारत किसी राजा का महल नहीं बल्कि झारखंड का एक पुलिस स्टेशन है। एक सफर के दौरान जब इन्फो इंडिया की टीम का जाना हुआ भरनो….तो नज़र पड़ी इस इमारत पर ..जिसके आगे साफ साफ लिखा था भरनो पुलिस स्टेशन। बताते हैं इस थाने में 400 से 500 पुलिस फ़ोर्स एक साथ रह सकते है।

Read more

“इडली चाट” खाया कभी

चटपटे चाट तो आपने खूब खाये होंगे…पर क्या आपने कभी “इडली चाट” खाया है? रांची जिले में भरनो जाने के रास्ते में बेड़ो से कुछ 5 किलोमीटर आगे सरना चौक है, इसी चौक पर है दीक्षा चाउमीन की टपरी। इस टपरी को चलती हैं एक महिला, जो हालांकि अपना नाम और फ़ोटो खिंचवाने से कतराती है पर अपनी दुकान में

Read more

गुलेलधारी “कृष्ण के अवतार”

ये हैं गुलेलधारी रूपल… एक ऐसा इंसान जो खुद को कलयुग में भगवान कृष्ण का अवतार होने का दावा करता है, और तो और इनका दावा ये भी है की आसमान में एक गुलेल चलाने से बारिश होने लगती है और दूसरा गुलेल चलाने से बारिश रुक भी जाती है। इस बात को यकीन करने में थोड़ा वक्त आपको भी

Read more

अजब ट्रैक्टर, गज़ब चाल

गौर से डालिये एक नज़र ट्रैक्टर के इस अजब गजब चाल पर….. ऐसा नजारा आपको झारखंड में ही दिख सकता है….क्योंकि जुगाड़ टेक्नोलॉजी में झारखंड हमेशा आगे रहा है….इस ट्रैक्टर ने न तो शराब पी रखी है और न तो इसका रिवर्स गियर डायरेक्ट हो गया है….दरअसल इस प्रक्रिया को झारखंड में “धान मिसाई” कहते हैं। इन दिनों खेतों में

Read more

रांची में “एक्सपो उत्सव”

15 सितंबर से 19 सितंबर को रांची वासी लुत्फ उठा सकते हैं JCI Ranchi द्वारा मोरहाबादी आयोजित ‘एक्सपो उत्सव’ का। एक नज़र एक्सपो के हाइलाइट्स पर।

Read more

घोड़े ने खोली दुकान

आज एक ऐसे घोड़े पर नज़र पड़ी, जो अपने ही ‘नाल’ से बनी अँगूठियों की दुकान लगाए खुद ही खड़ा था, ज़ाहिर सी बात है इसमें किसी इंसान का ही हाथ होगा पर सोचने वाली बात ये है कि घोड़े की नाल वाली इन अंगूठियों की विश्वसनीयता का मानक ये घोड़ा…इंसानी ग्राहकों के अनेकों सवालों का जवाब क्या दे पाएगा?

Read more

एक ‘कलाकार’ ऐसा भी

हमारे देश और समाज में इतनी विषमताएं क्यों हैं?…किसी के पास धन सम्हाले नहीं सम्हल रहे हैं….और कोई है की धन के अभाव में मरा ही जा रहा है..;..मिलिए दो ऐसे बुज़ुर्ग कलाकारों से जो बेशक रोज़ भीख मांग कर अपनी रोटी का इंतज़ाम करता है….पर भीख में मिली उन रुपयों के बदले ये बुज़ुर्ग भिक्षुक थोड़ा ही सही पर

Read more
« Older Entries