मंगलवार 29  मई को झारखण्ड में बनी हिंदी फीचर फिल्म “लोहरदगा” के लेखक व निर्देशक लाल विजय नाथ शाहदेव ने रांची स्थित “झारखण्ड फिल्म एंड थिएटर एकेडेमी” के एक्टिंग के छात्रों के साथ फिल्म से जुड़े अपने अनुभव बांटें, और छात्रों के अभिनय से जुड़े कई सवालों का भी बखूबी जवाब दिया, मौके पर उनके साथ झारखण्ड के जाने माने कलाकार पंकज सिन्हा भी मौजूद थे. 

गौरतलब है की फिल्म “लोहरदगा” झारखण्ड की धरती पर बनी एक ऐसी हिंदी फीचर फिल्म है जिसमें हालांकि जाने माने अभिनेता संजय मिश्रा, विजय राज और अखिलेन्द्र मिश्रा ने मुख्या भूमिका निभाई है, इसके अलावा झारखण्ड के कई कलाकारों को भी फिल्म में अहम् भूमिका निभाने का मौका मिला है.

मौके पर लाल विजय नाथ शाहदेव ने बताया की ये उनका अपने जन्मस्थान लोहरदगा के प्रति प्यार ही था की उन्होंने फिल्म को लोहरदगा के आस पास और झारखण्ड के कई क्षेत्रों में फिल्माया है, यहाँ तक की उन्होंने फिल्म का नाम ‘मनु का सरेंडर’ से बदलकर ‘लोहरदगा’ रख दिया , ताकि लोहरदगा की पहचान विश्व स्तर पर हो सके.

लाल विजय नाथ शाहदेव के मुताबिक फिल्म को फिलहाल कांस जैसी विदेशी फेस्टिवल्स में घुमाया जायेगा, उसके बाद ही देश दर्शक सिनेमाघरों में देख पाएंगे. इसके अलावा देश की पार्लियामेंट्री गठन के सदस्यों ने भी फिल्म को देखने की इच्छा ज़ाहिर की है. 

“झारखण्ड फिल्म एंड थिएटर एकेडेमी” के निदेशक राजीव सिन्हा के मुताबिक यहाँ अभिनय में रूचि रखने वाले कलाकारों का सौभाग्य है की ‘लोहरदगा’ जैसी फिल्म झारखण्ड के फिल्मकार ने बनाया है, जिनके लिए कई रास्ते खुलेंगे.

Advertisements